Karwachauth ki Pooja Vidhi-जाने करवा चौथ की पूजा विधि और क्या करने से बचे

0
Karwachauth ki Pooja Vidhi
Karwachauth ki Pooja Vidhi
Share with your friends :-

भारतवर्ष में वैसे तो पूरे वर्ष ही भिन्न भिन्न प्रकार के त्यौहार मनाए जाते हैं लेकिन अक्टूबर और नवंबर माह के कुछ विशेष महीने हैं जिनमें अधिक त्यौहार होते हैं जैसे नवरात्रि, दशहरा, धनतेरस, दीपावली, गोवर्धन पूजा, भाई दूज आदि। लेकिन इन सभी त्यौहारो के बीच एक और त्यौहार आता है जो महिलाओं के लिए बेहद ही विशेष पर्व है, इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं और पूरे वर्ष उनके लिए आरोग्यता, धन, ऐश्वर्य और सफलता की कामना रखते हुए पूरे दिन उनके लिए व्रत रखती हैं। तो आज मैं आपको करवा चौथ और Karwachauth ki Pooja Vidhi के बारे में बताने वाला हूं साथ ही मैं आपको करवा चौथ से जुड़ी कुछ रोचक जानकारी और इसके शुभ मुहूर्त के बारे में भी करने वाला हूं तो चलिए आज के इस ब्लॉग को शुरू करते हैं  :- 

Karwachauth ki Pooja Vidhi – जाने करवा चौथ की पूजा विधि और क्या करने से बचे

करवा चौथ कब मनाया जाता है?

महिलाओं के लिए करवा चौथ के पर्व का विशेष महत्व है यह महिलाओं का मुख्य त्योहार माना जाता है इस दिन सुहागन महिलाएं अपने पति की दीर्घायु की कामना करती हैं।

करवा चौथ कार्तिक माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है इस दिन महिलाएं निर्जला रहकर पूरे श्रद्धा भक्ति भाव से भगवान शिव मां पार्वती और गणेश भगवान का पूजन करते हैं और रात्रि के समय चांद को जल से अर्घ्य देकर अपने पति की लंबी उम्र की प्रार्थना करती है।

ऐसा माना जाता है कि रात्रि में सुहागन महिलाएं चांद को अर्घ्य देती हैं तो भगवान चंद्र देव उनके पति को चंद्र के समान तेज, बुद्धि और सफलता का आशीर्वाद प्रदान करते हैं। Karwachauth ki Pooja Vidhi

2021 में करवा चौथ कब है Karwa chauth 2021 Date

कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को सुहागन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु की कामना के लिए करवा चौथ का व्रत रखती हैं। इस साल 2021 में यह व्रत 24 अक्टूबर 2021 दिन रविवार को रखा जाएगा। 

यह व्रत अपने नियमों को लेकर बहुत विशेष और कठिन माना जाता है। सूर्योदय से पहले यह व्रत शुरू होता है और पूरे दिन निर्जला व्रत के बाद रात को चांद के दर्शन कर और चांद को अर्घ देकर व्रत संपूर्ण किया जाता है।

  • करवा चौथ का दिन – 24 अक्टूबर 2021
  • करवा चौथ का पावन दिन – कार्तिक माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को|
  • पूजन – भगवान शिव, मां पार्वती, भगवान श्री गणेश, भगवान कार्तिक और चंद्र देव
  • करवा चौथ का वार(दिन) – रविवार
  • चांद निकलने का समय – 8 बजकर 11 मिनट
  • शुभ मुहूर्त – शाम 6:55 से 8:51 तक
  • इसे भी पढ़े :- Mata Rani Status in Hindi | Navratri Status 2021 | Mata Rani Shayari 2021

करवा चौथ का शुभ मुहूर्त – Karwa chauth ka shubh Muhurt

24 अक्टूबर 2021 को करवा चौथ का त्यौहार है ज्योतिषियों के अनुसार 5 वर्ष बाद करवा चौथ पर शुभ योग बन रहा है। करवा चौथ का रोहिणी नक्षत्र में पूजन हो रहा है साथ ही द्वारका दिन होने की वजह से सूर्य देव का भी व्रत का आशीर्वाद महिलाओं को प्राप्त होगा।

ज्योतिषाचार्य डॉ अरविंद मिश्रा ने Karwachauth ki Pooja Vidhi और यह बताया कि रोहिणी नक्षत्र में चांद निकलेगा और पूजन होगा कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि इस साल 24 अक्टूबर 2021 रविवार सुबह 3 बजकर 01 मिनट से शुरू होगा और अगले दिन 25 अक्टूबर को सुबह 5 बजकर 43 मिनट तक रहेगा।

इस दिन चांद निकलने का समय 8 बजकर 11 मिनट है पूजन के लिए शुभ मुहूर्त 24 अक्टूबर को शाम 6:55 से शुरू होकर 8:51 तक माना जा रहा है।

Karwachauth ki Pooja Vidhi – करवा चौथ की पूजा विधि

सुबह सूर्योदय से पहले उठकर स्नान कर लें स्नान के बाद नए वस्त्र धारण करें और भगवान शिव, मां पार्वती और भगवान श्री गणेश के सम्मुख पूजा अर्चना करें और करवा चौथ के व्रत का संकल्प लें।

शाम तक निर्जला (कुछ ना खाए/पिए) रहकर शाम के समय पूजा के लिए लकड़ी की चौकी पर भगवान शिव, मां पार्वती और भगवान गणेश की प्रतिमा को स्थापित करें।

Karwachauth ki Pooja Vidhi में सबसे ज्यादा जरूरी है पूजा से पूर्व पूजा की एक थाली में धूप, दीप, चंदन, सिंदूर रखें। घी का दीपक जलाएं और पूरे श्रद्धा भक्ति भाव से पूजन करें और अपने पति की लंबी उम्र की कामना करें और रात्रि के समय चांद निकलने के उपरांत चांद को अर्घ देकर अपने व्रत को संपूर्ण करें।

करवा चौथ के दिन क्या ना करें ?

महिलाओं का विशेष त्यौहार कहा जाने वाला करवा चौथ व्रत अत्यंत कठिन और विशेष है। इसमें सुहागन महिलाओं को विशेषकर कुछ बातों पर ध्यान देना होगा हिंदू रीति रिवाज और अपने ससुराल के नियम पूर्वक पूरे श्रद्धा भाव से सुहागन महिलाओं को करवा चौथ का पूजन करना चाहिए।

आइए कुछ बातें जो ज्योतिषाचार्य के द्वारा बताई गई हैं जिनको आप को करवा चौथ पर करने से बचना चाहिए। नहीं तो इस व्रत को करने का फल आपको नहीं मिलेगा लेकिन इनमें से कोई का गलती आप से हो जाती है तो उसके लिए अपने देवी-देवताओं से माफी मांगनी चाहिए और पूरे श्रद्धा भक्ति भाव से इस व्रत को करना चाहिए।

करवा चौथ पर यह कार्य बिल्कुल ना करें :-

  1. करवा चौथ के दिन देर तक ना सोए क्योंकि व्रत की शुरुआत सूर्योदय के साथ हो जाती है।
  2. इस दिन भूरे और काले रंग को ना धारण करें यह शुभ नहीं माने जाते हैं आप लाल रंग के कपड़ों को धारण करें।
  3. खुद ना सोए और इसके अलावा इस दिन महिलाओं को विशेष कर घर के किसी भी सदस्य को सोते हुए नहीं उठाना चाहिए हिंदू शास्त्रों के अनुसार आज के दिन ऐसा करना अशुभ माना गया है।
  4. आज के दिन महिलाएं किसी भी नुकीली चीज को इस्तेमाल ना करें जैसे सुई धागा का काम ना करें सिलाई ना करें बटन ना लगाएं।
  5. करवा चौथ के व्रत के दिन सफेद चीजों का दान करने से बचें जैसे सफेद कपड़ा, दूध, दही, चावल, सफेद मिठाई आदि दान ना करें या किसी को ना दें।
  6. हिंदू शास्त्रों के अनुसार व्रत का संकल्प लिए हुए महिला को अपने पति से झगड़ा नहीं करना चाहिए झगड़ा करने से उसका व्रत का फल नहीं मिलता है बल्कि आपका पति ही रोग्यता और अनेक प्रकार की परेशानियों से ग्रसित हो जाता है।
  7. व्रत करने वाली महिला को आज के दिन अपनी वाणी पर नियंत्रण करना चाहिए घर में किसी भी बड़े का अपमान नहीं करना चाहिए, यह अशुभ माना जाता है व्रत के संपूर्ण होने पर अपने घर के सभी बड़ों का आशीर्वाद ग्रहण करना चाहिए।

आखिरी शब्द :-

आशा करता हूँ कि आज की करवाचौथ से जुडी और Karwachauth ki Pooja Vidhi से जुडी सभी जानकारी आपको जरुर पसंद आई होगी। अगर पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ जरुर शेयर करे और साथ ही साथ ऐसे ही लेटेस्ट टॉपिक के लिए हमे सोशल मीडिया पर फॉलो जरुर करे | धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here