Christmas Day in Hindi 2021- क्रिसमस डे क्यों मनाया जाता है ?

2
Christmas Day in Hindi 2021
Christmas Day in Hindi 2021
Share with your friends :-

लगभग पूरी दुनिया में मनाया जाने वाला ईसाइयों का प्रमुख त्यौहार जिसे क्रिसमस डे के नाम से जाना जाता है इसे बड़ा दिन के नाम से भी जाना जाता है।यह विश्व के लगभग सभी देशो में मनाया जाता है, पूरी दुनिया में हर देश में ईसाई धर्म के लोग रहते है जो इस त्यौहार को हर वर्ष 25 दिसम्बर को बड़े ही धूमधाम से मनाते है।क्रिसमस का त्यौहार ईसा मसीह के जन्दीन के रूप में मनाया जाता है ईसा मसीह की बात करे तो वह ईसाई धर्म के संस्थापक है।उन्हें लोग “Son of God” भगवान का बेटा भी कहते थे।तो आज हम बात करने वाले है Christmas Day in Hindi 2021– क्रिसमस डे क्यों मनाया जाता है ? और इसे मनाने के पीछे क्या रहस्य है तो चलिए विस्तार से जानते है :-

ईशा मसीह जिन्हें लोग प्यार से यीशु के नाम से भी पुकारते थे।25 दिसंबर को लोग ईशा मसीह के जन्मदिन के रूप में मनाते है। इस दिन चर्च (गिरिजाघर) को सजाया जाता है, ईशा मसीह के जीवन क नाट्य रूपांतरण किया जाता है उनके जीवन में क्या क्या घटित हुआ था, किस प्रकार से उन्होंने मानव जीवन को भगवान का साक्षात्कार कराया और उन्हें भगवान या फिर परमेश्वर से मिलने का रास्ता बताया।

Christmas Day in Hindi 2021- क्रिसमस डे क्यों मनाया जाता है ?

पुरातन कथाओ के अनुसार ईसाई धर्म के संस्थापक ईसा मसीह का जन्म 7 से 2 ईसा पूर्व 25 दिसंबर को हुआ था। ईसा मसीह को लोग अलग अलग नाम से पुकारते थे जैसे यीशु, मसीहा, “Son of God” भगवान का बेटा, Messenger of God भगवान के संदेशवाहक, जीसस क्राइस्ट आदि।

Happy Christmas Day Wishes 2021
Happy Christmas Day Wishes 2021

ईसा मसीह की माता का नाम मरियम था और उनके पिता का नाम युसूफ था, वो पेशे से एक बढई थे।ईसा मसीह का जन्म यहूदिया प्रांत के बेथलेहेम नामक नगर में एक अस्तबल में हुआ था उस अस्तबल के चारो तरफ जानवर ही जानवर थे।

माना जाता है माता मरियम विवाह के पहले से ही कुँवारी रहते हुए ही ईश्वरीय प्रभाव से गर्भवती हो गईं। ईश्वर की ओर से संकेत पाकर यूसुफ ने उन्हें पत्नी रूप में ग्रहण किया था। माता मरियम को एक दिन आकाशवाणी सुनाई देती है कि मरियम, उस परम परमेश्वर की कृपा से तुझे एक पुत्र की प्राप्ति होगी वह परमेश्वर का पुत्र कहलाएगा।

Christmas Day in Hindi 2021 माता मरियम के पूछने पर  कि अभी तो मेरा विवाह भी नही हुआ है और न ही मैं अपने होने वाले पति को जानती हूँ। इसके उत्तर में फिर आकाशवाणी होती है कि जल्द ही तेरा विवाह एक बढई से होगा। आगे चलकर यही बालक परमेश्वर का ज्ञान कराएगा और परमेश्वर से मिलने का रास्ता यही बताएगा। तो कम शब्दों में बात करे क्रिसमस डे ईसा मसीह के जन्मदिन के तौर पर मनाया जाता है ।

ईसा मसीह का जीवन परिचय

ईसाइयों का एक धार्मिक ग्रन्थ है जिसे बाइबिल के नाम से जाना जाता है बाइबिल के अनुसार ईसा मसीह की माता मरियम गलीलिया प्रांत के नाज़रेथ गाँव में रहती थीं। उनकी शादी यूसुफ नामक बढ़ई से हुई थी। विवाह के पहले ही वह कुँवारी रहते हुए ही ईश्वरीय प्रभाव से गर्भवती हो गईं। ईश्वर की ओर से संकेत पाकर ही यूसुफ ने मरियम से शादी की थी। इस प्रकार जनता ईसा की अलौकिक उत्पत्ति से अनभिज्ञ रही।

Christmas Day Shayari in Hindi
Christmas Day Shayari in Hindi

विवाह संपन्न होने के बाद यूसुफ गलीलिया छोड़कर यहूदिया प्रांत के बेथलेहेम नामक नगर में जाकर रहने लगे, वहाँ ईसा का जन्म हुआ। ईसा मसीह जब बारह वर्ष के हुए, तो यरुशलम में तीन दिन रुककर मन्दिर में उपदेशकों के बीच में बैठे, उन्हें सुनते और उन से प्रश्न करते।

ईसा मसीह ने अपने पिता यूसुफ का पेशा सीख लिया और लगभग 30 साल की उम्र तक उसी गाँव में रहकर वे बढ़ई का काम करते रहे। बाइबिल में उनके 13 से 29 वर्षों के बीच का कोई ‍ज़िक्र नहीं मिलता। 30 वर्ष की उम्र में उन्होंने यूहन्ना से पानी में डुबकी (दीक्षा) ली। डुबकी के बाद ईसा पर पवित्र आत्मा आया। 40 दिन के उपवास के बाद ईसा लोगों को शिक्षा देने लगे। Christmas Day in Hindi 2021

कहा जाता है ईसा मसीह को परमेश्वर का बेटा कहा जाने को लेकर कई कट्टरपंथी विचारधारा वाले लोग ईसा मसीह को बुरा भला कहते थे और उन्हें अपमानित करते थे लेकिन ईसा शांत और सरल थे। कहा जाता है इसी के चलते उन्हें यहूदियों के राजा के नाम से जाना जाने लगा था और उन्हें इसकी सजा के तौर पर उनके हाथ और पैरो में कील ठोक दी गयी थी और उन्हें क्रूस (सूली) पर चढ़ा दिया गया था जिसके कारण उन्होंने शरीर त्याग दिया था।

जाने कौन है सांता क्लॉज़ (Santa Clause) ?

क्रिसमस के ख़ास मौके पर आपने एक बड़े ही अजीब व्यक्ति को देखा होगा जो लाल रंग की पोशाक पहने रहता है औरउसकी लम्बी सफ़ेद दाढ़ी होती है मोटा पेट और उसके पास बच्चो के लिए अनेक प्रकार के खिलौने और टॉफी, चॉकलेट होती है जिसे वो सभी बच्चो में क्रिसमस को बांटता है।

क्या आप जानते है यह मोटा सफ़ेद दाढ़ी वाला व्यक्ति कौन है और यह क्रिसमस पर ही क्यों दिखाई देता है? अगर नही जानते है तो चलिए मैं आपको बताता हूँ कई मान्यताओ के अनुसार सांता क्लॉज़ को ईसा मसीह का पिता कहा जाता है जो ईसा मसीह सहित अनेक बच्चो के लिए बचपन में खिलौने लेकर आया करते थे।

इसके अलावा सांता क्लॉज़ के पीछे और भी अनेक प्रकार की कहानियां प्रसिद्ध है जैसे कहा जाता है कि सांता क्लॉस की लोकप्रिय छवि को जर्मन मूल के अमेरिकी कार्टूनिस्ट थॉमस नस्ट के द्वारा बनाया गया, जो हर साल एक नई छवि को बनाते थे, Christmas Day in Hindi 2021 नस्त जिन्होंने सबसे पहले सन 1863 में सांता की छवि को प्रदर्शित किया था, जिसे अब हम संता कहते हैं उसके पहचान बनी और सांता की उस छवि को 1920 के दशक में विज्ञापनदाताओं के द्वारा दुनिया के कोने कोने तक पहुँचाया गया और धीरे धीरे सांता पुरे विश्व में लोकप्रिय हो गया।

सांता क्लॉज़ को उपहार और खिलौने लाने वाला भी कहा गया है क्योकि सांता हमेशा बच्चो को प्यार करता है और उनके लिए उपहार लाता था, इसलिए आज आधुनिक युग में भी यह पुरानी परम्परा चली आ रही है। कई देशो की मान्यताओं के अनुसार सांता क्लॉज़ को परमेश्वर का फरिश्ता भी कहा जाता है। कहते है सांता क्लॉज़ हिरन से जुडी एक गाड़ी जो बर्फ पर चलती है जिसे स्लेज भी कहते है उससे आता है।

क्रिसमस ट्री की शुरुआत :-

क्रिसमस के अवसर पर लोग अपने घरो की साफ सफाई कर घरो को अच्छे से सजाते है इसके साथ ही शहर के सभी चर्च (गिरिजाघर) को भी सजाया जाता है, क्रिसमस की रात रंग बिरंगी रौशनी से जगमग हो जाती है। सबसे पहले क्रिसमस ट्री की शुरुआत यहूदी प्रान्त के लोगो ने शुरू की थी उनके द्वारा यह मानना था की क्रिसमस ट्री को घर में सजाने से घर में सुख शांति बनी रहती है और साथ ही गॉड की कृपा उनपर हमेशा बनी रहती है।

Christmas Day in Hindi 2021
Christmas Day in Hindi 2021

क्रिसमस ट्री पहाड़ी क्षेत्रो में पाए जाने वाले देवदार, चीड़ और स्प्रूस के वृक्ष होते है जो काफी लम्बे और सीधे होते है इनका आकार तिकोना अर्थात त्रिभुजाकार होता है इन्हें रंग बिरंगी लाइट, टॉफी, चॉकलेट, बेल, बॉल, कैंडी और रंग बिरंगे कागज और प्लास्टिक के खिलौने से सजाया जाता है।

ऑस्ट्रेलिया, उत्तरी और दक्षिण अमेरिका और यूरोप का कुछ हिस्सा पारंपरिक रूप से क्रिसमस ट्री को सजाता है जिसमे घर के बाहर बत्तियों से सजावट, बर्फ का इंसान बनाना और अन्य क्रिसमस के मूरत शामिल होते हैं। Christmas Day in Hindi 2021 कई देशो के शहरों में तो क्रिसमस के पोधे हर गली चौराहे और रोड किनारे रखे जाते हैं इसके अलावा स्कूल, कॉलेज, ऑफिस साथ ही साथ मॉल जैसे सार्वजनिक जगहों पर भी क्रिसमस ट्री को सजाया जाता है।

आखिरी शब्द :-

तो आशा करता हूँ क्रिसमस और क्रिसमस से जुडी सभी जानकारी आपको मिल चुकी होगी और मैंने कोशिश की है की कम शब्दों में आप तक सही और सटीक जानकारी पहुँच सके। वैसे तो यह ईसाईयो का प्रमुख त्यौहार है लेकिन इसे गैर-ईसाई धर्म के लोग भी मनाते है और त्यौहार तो कोई भी धर्म का क्यों न हो, त्यौहार हमेशा ही सभी के लिए खुशियाँ लेकर आते है। तो अगर आज की यह जानकारी आपको पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे और साथ ही साथ हमे सोशल मीडिया पर भी जरुर फॉलो करे। धन्यवाद !

 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here